Home समाचार न्यायालय नहीं अब संसद के जरिये ही शीघ्र बने राम मंदिर : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ

न्यायालय नहीं अब संसद के जरिये ही शीघ्र बने राम मंदिर : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ

by News-Admin

दिखने लगी है संघ परिवार के धैर्य की पराकाष्ठा, कानून बनाने के लिये सरकार को स्पष्ट संदेश

बुधवार को मुंबई में आयोजित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तीन दिवसीय अखिल भारतीय कार्यकारिणी मंडल की बैठक में अयोध्या मामले की अदालती सुनवाई में हो रही देरी पर संघ परिवार का धैर्य जवाब देता हुआ दिखाई दिया। 

रास्वसं के सह सरकार्यवाह मनमोहन वैद्य ने कहा कि राम मंदिर का निर्माण राष्ट्रीय गौरव का विषय है और अभी तक अयोध्या विवाद का हल अदालत नहीं निकाल पायी है यह दुर्भाग्यपूर्ण है। अब इसमें और देरी किये बिना सरकार को कानून बनाकर भव्य राम मंदिर बनाने का रास्ता साफ करना चाहिये।

संघ परिवार का स्पष्ट रूख है कि राम मंदिर राष्ट्रीय और सामाजिक महत्व से संबंधित है जिसके निर्माण में पर्याप्त से कहीं अधिक इंतजार किया जा चुका है।

उल्लेखनीय है संघ का यह बयान तब आया है जब उच्चतम न्यायालय ने अयोध्या मामले की सुनवाई को जनवरी तक टाल दिया है। रास्वसं के सरसंघचालक डॉ मोहन भागवत ने इससे पहले 18 अक्टूबर को नागपुर के विजयदशमी उत्सव में राम मंदिर निर्माण के लिये कानून बनाये जाने कि मांग की थी।

Related Articles

Leave a Comment